Manipur Covid19 : ऑक्सीजन की कमी के बाद राजमेडिसिटी ने लगाई कोविड मरीजों की भर्ती पर रोक

देश भर में कोरोना संक्रमण का मामला लगातार बढ़ता ही जा रह है. कोरोनो मामलों में बढ़ोतरी के बीच ऑक्सीजन व बेड की कमी से स्वास्थ्य व्यवस्था पूरी तरह से चरमरा गई है. मरीजों को अस्पताल में बेड नहीं मिल रहे हैं और ऑक्सीजन की कमी से मरीजों की जान जा रही है. जिससे चारों तरफ कोहराम मचा हुआ है.

सांसद साहब ने पेश की इंसानियत की मिसाल, अनाथ बच्चों की मदद के लिए बढ़ाया हाथ

इस बीच इंफाल में नए मरीजों की भर्ती पर रोक लगा दी गई है. रोक लगाने के पीछे कोरोना के बढ़ते मामले और ऑक्सीजन की कमी को कारण बताया गया है. पूरा मामला नॉर्थ-ईस्ट के मणिपुर राज्य का है. जहां कोविड मरीजों की ऑक्सीजन की मांग के आगे इंफाल का राजमेडिसिटी, नॉर्थ एओसी का हेल्थ सिस्टम छोटा पड़ गया है. संभावित खतरे को भांप प्रबंधन ने यहां कोरोना के नए मरीज भर्ती करने से हाथ खड़े कर दिए हैं.

प्लाज्मा डोनेट करने के लिए तोड़ा रोजा, कांग्रेस नेता को सोशल मीडिया ने कहा ”थैंक यू”

इस संबंध में 14 मई को राजमेडिसिटी के इंचार्ज-मेडिकल सुपेरिटेंडेंट डॉ. नागेंद्र सिंह की ओर से एक नोटिस जारी किया गया है. इस नोटिस में सभी संबंधित कंसल्टेंट्स और आरएमओ को सूचित किया गया है कि कोरोना मामले बेतहासा बढ़ रहे हैं और ऑक्सीजन की भारी कमी है. ऐसी स्थिति में अब किसी भी कोविड या नॉन कोविड मरीजों को अस्पताल में भर्ती न किया जाए.

SS Kim,Secretary, All India Mahila Congress

मणिपुर कोरोना वायरस से पीड़ित है और यह चुनौतीपूर्ण समय है. भाजपा मणिपुर प्रमुख की भी COVID के कारण मृत्यु हो चुकी है. राज्य को ऑक्सीजन की आपूर्ति करने के लिए केंद्र सरकार जिम्मेदार है. लेकिन केंद्र सरकार अपनी ड्यूटी पूरी करने में विफल रही है. भले ही हमारे पास केंद्र और राज्य दोनों में भाजपा है, लेकिन हालात बेहद खराब हैं. मैं मरीजों को लेकर बहुत चिंतित हूं और यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि एक अस्पताल को इस तरह का नोटिस देना पड़ता है. हमें बेहतर तरीके से तैयार रहना चाहिए था, लेकिन केंद्र सरकार ने मणिपुर को विफल कर दिया. भाजपा केवल नॉर्थ-ईस्ट में चुनाव जीतना चाहती है. उसे यहां के हालात के कोई फर्क नहीं पड़ता.

इस पर मणिपुर प्रदेश यूथ कांग्रेस ने मुख्यमंत्री एन. बिरेन सिंह की अगुवाई वाली सरकार पर हल्ला बोला है. मणिपुर प्रदेश यूथ कांग्रेस ने सरकार पर तंज कसते हुए ट्वीट किया कि, सर, आप दावा करते हैं कि मणिपुर में हेल्थ केयर सिस्टम #COVID19 से लड़ने के लिए पर्याप्त है. तो, इंफाल में राज मेडिसिटी अस्पताल में मेडिकल ऑक्सीजन कैसे खत्म हो रही है, जिसके कारण मरीजों को भर्ती करने से रोका जा रहा है?

बता दें कि स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार भारत में कोरोना संक्रमण के 3,26,098 नए मामले आने के बाद कुल पॉजिटिव मामलों की संख्या 2,43,72,907 हो चुकी है. वहीं 3,890 नई मौतों के बाद कुल मौतों की संख्या 2,66,207 हो गई है. जबकि मणिपुर में शुक्रवार को कोविड-19 के एक दिन में सर्वाधिक 726 नये मामले सामने आए जिसके बाद संक्रमण के कुल मामले बढ़कर 38,322 हो गए हैं. 16 और लोगों की मौत के बाद मरने वालों की संख्या बढ़कर 552 हो गई है.

The Depth

TheDepth is India's own unbiased digital news website.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: