स्थानीय लोगों ने बंद पड़े ऑक्सीजन प्लांट को खुलवाया, अब जनता को मिलेगा फायदा

नई दिल्ली. कोरोना वायरस संक्रमण के इस काल में ऑक्सीजन की भारी किल्लत से अस्पताल जूझ रहे हैं. इसी बीच नजफगढ़ इलाके के नंगली गांव में ऑक्सीजन प्लांट की दोबारा शुरुआत की गई है. इस प्लांट के शुरु होने से अब स्थानीय लोगों और आसपास के इलाकों को ऑक्सीजन लेने के लिए दर दर नहीं भटकना पड़ेगा.

इस संबंध में हमने बात की इलाके के प्रधान भरत सिंह से. उन्होंने बताया कि कुछ दिन पहले एसडीएम की निगरानी में इस प्लांट को बंद किया गया. इसे बंद पड़े 15 दिन हो चुके थे. प्लांट बंद होने से स्थानीय लोगों को ऑक्सीजन के लिए दिल्ली की ओर भागना पड़ रहा था.

इसी बीच ऑक्सीजन की कमी से कई लोगों की जान भी चली गई. ऐसे गंभीर समय में इस ऑक्सीजन प्लांट का बंद होना बहुत नुकसानदेह था. ऑक्सीजन प्लांट बंद होने से स्थानीय लोगों ने इसे दोबारा शुरु करवाने की पहल की. इस संबंध में नांगली इंडस्ट्रीयल एसोसिएशन, नांगली ग्राम समिति, स्थानीय आरडब्लूए, भाईचारा गुप, कोविड योद्धा ग्रुप समेत नांगली के स्थानीय निवासियों ने काफी मदद की.

इस मामले पर प्रधान भरत सिंह ने बताया कि इंडस्ट्रीयल एरिया में इस प्लांट से सप्लाई जाती थी. मगर बीते 14-15 दिनों से ये प्लांट बंद था. लॉकडाउन में ऑक्सीजन इंडस्ट्रीयल एरिया में सप्लाई होनी नहीं थी. वहीं ये प्लांट भी एसडीएम द्वारा बंद करवा दिया गया था. ऐसे में स्थानीय निवासियों ने इसे फिर से शुरु करवाने की जिम्मेदारी उठाई.

वैसे तो ये प्लांट चालू रहना चाहिए था. मगर पंचायत समिति के सदस्य श्रीभगवान तहलान ने एसडीएम के साथ बैठक करवाई और इसके बाद ये बंद पड़ा प्लांट दोबारा शुरु करवाया गया. कई दिनों की कड़ी मेहनत के बाद बुधवार की सुबह 9.30 बजे से इस प्लांट को दोबारा शुरु किया गया है. खास बात है कि ये प्लांट 14 टन की क्षमता रखता है. यहां ऑक्सीजन भरवाने के लिए लोगों को मात्र 30 मिनट का वेटिंग समय लग रहा है. यहां काफी मात्रा में लोग सिलेंडर भरवाने पहुंचने लगे हैं.

15 लाख लोगों को होगा फायदा

ऑक्सीजन प्लांट के संबंध में विजय धनकड़ ने बताया कि इस ऑक्सीजन प्लांट के शुरु होने से अब इलाके के 15 लाख लोगों को फायदा होगा. उन्हें ऑक्सीजन की जरुरत पड़ने पर इधर उधर भागने की जरुरत नहीं होगी. इस प्लांट की मदद से आस पास के 6-7 छोटे अस्पतालों को भी ऑक्सीजन की समस्या से दो चार नहीं होना पड़ेगा. बुधवार की सुबह इस प्लांट को शुरु करवाने में स्थानी लोगों की बहुत सहायता मिली.

इससे पहले हाल ही में जानकारी मिली थी ये प्लांट बंद किया गया है. इसे एसडीएम की निगरानी में अवैध करार कर बंद किया गया था. वहीं प्लांट बंद होने के बाद कच्चे माल की आपूर्ति नहीं हो रही थी. ऐसे में प्लांट का इस्तेमाल नहीं किया जा रहा था.

The Depth

TheDepth is India's own unbiased digital news website.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: