विश्लेषण में आया सामने, भारत में हुई है 6 लाख से अधिक मौतें

नई दिल्ली. कोरोना वायरस के कारण अबतक तीन लाख मौतें हो चुकी हैं. हालांकि ये सिर्फ सरकारी आंकड़ा है. वहीं अब एक नया आंकड़ा आया है जिससे होश उड़ गए हैं. इसी कड़ी में अब न्यूयॉर्क टाइम्स ने कई विशेषज्ञों की टीम से परामर्श के आधार पर नए नतीजे निकाले हैं. इस टीम ने भारत में कोरोना संक्रमण से हुई मौत और संक्रमण के सरकारी आंकड़ों और संभवत: मौतों का अनुमान लगाया है.

मास्क धोते समय रखें इन बातों का खास ख्याल

इन अनुमान में एंटीबॉडी टेस्ट के नतीजों का विश्लेषम भी किया गया है. इसके बाद जो नतीजे आए हैं वो बहुत भयावह है. इन विश्लेषण में सर्वे की संख्या को आधार बनाया गया है. इन आंकड़ों के लिए तीन सीरो सर्वे किए गए. इन सीरो सर्वे में पाया गया कि वास्तविक सरकारी आंकड़ों से 13.5 गुना से लेकर 28.5 गुना तक अधिक मौतें भारत में हुई है. इस संबंध में ट्वीट भी वायरल हो रहा है.

कोरोना में कब है अस्पताल में भर्ती होने की जरूरत, वीडियो में बताया डॉक्टर ने

इस विश्लेषण में पाया गया कि सरकारी आंकड़ों के मुताबिक कम से कम 15 गुना अधिक मौतें हुई हैं. वही ये भी आशंका जताई गई है कि इस तरह अधिक से अधिक मामले लगभग 20 गुणा हो सकते है. वहीं सबसे खराब स्थिति का अनुमान भी इस विश्लेषण के जरिए निकाला गया है जिसके मुताबिक 26 गुना मामले हो सकते है. ये नतीजे सरकारी आंकड़ों के काफी अधिक है.

तेजी से फैल रहा कोरोना का N440 वैरिएंट, CCMB की स्टडी में खुलासा

स्टडी में शामिल टीम के सदस्यों का कहना है कि भारत में सीरो सर्वे के नतीजे भी वास्तविक स्थिति से कम हो सकते हैं. ऐसे में संभव है कि असल आंकड़े सबसे खराब स्थिति में दर्शाए गए आंकड़ों से भी कही अधिक हो. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक इस विश्वेषण में डॉ. इंगविल्ड अल्मास, डॉ. मुराद बनजी, डॉ. टेसा बोल्ड, डॉ. सेलीन घिसोल्फी, डॉ. रामनन लक्ष्मीनारायण, डॉ. भ्रामण मुखर्जी, डॉ. पॉल नोवोसाद, डॉ. मेगन ओ’ड्रिस्कॉल, डॉ. जेफरी शमन, डॉ. कायोको शिओडा, रुक्मिणी श्रीनिवासन और डॉ. डैन वेनबर्गर शामिल हैं.

The Depth

TheDepth is India's own unbiased digital news website.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: