ऑनड्यूटी नर्सिंग स्टाफ का सफाई कर्मचारियों ने किया ये हाल, देखें वीडियो

नई दिल्ली. कोरोना संक्रमण काल के दौरान ऐसी कई घटनाएं सामने आई हैं जब मरीज के परिजनों ने डॉक्टरों व मेडिकल स्टाफ पर हमले किए हैं. इस बार सफदरजंग अस्पताल से भी ऐसी ही जानकारी सामने आ रही है. मगर इस बार हमला करने वाले मरीज के परिजन नहीं बल्कि अस्पताल में तैनात सफाई कर्मी है.

ये है पूरा मामला

दरअसल 16 मई की रात को दो सफाई कर्मचारियों ने ड्यूटी पर मौजूद नर्सिंग स्टाफ राजेश पर हमला कर दिया. इस हमले में राजेश गंभीर रुप से जख्मी हुए हैं. जानकारों के मुताबिक घटना से पहले नर्सिंग स्टाफ राजेश ने सूरज और परमेश्वर को जमीन की सफाई करने और नर्सिंग स्टेशन की सफाई करने को कहा. राजेश की इस बात को दोनों सफाई कर्मचारियों ने मानने से मना कर दिया.

हमले में घायल नर्सिंग स्टाफ

सूत्रों से जानकारी के मुताबिक इसके बाद काम करने के लिए कहे जाने पर दोनों सफाई कर्मचारियों को गुस्सा आया. गुस्साए कर्मचारियों ने राजेश पर एक धारदार हथियार से वार कर घायल कर दिया. इस हमले के बाद राजेश बुरी तरह जख्मी हुए. उनके शरीर पर कई जगह चोट के निशान भी हैं. उन्हें होंठ, गला, छाती, कंधे, पीठ पर मारे जाने के कई निशान हैं.

सफाई कर्मचारियों से मिली धमकी

ऐसे में सवाल ये भी उठता है कि सफाई कर्मचारियों के पास धारदार हथियार आया कहां से. अस्पताल में इस तरह के औजार रखने का सफाई से लेना देना नहीं है. बता दें की हमले के बाद दोनों सफाई कर्मचारियों से साथ कई सफाई कर्मचारी भी नर्सिंग स्टेशन के बाहर इकट्ठा हो गए. सभी ने बाहर निकलने की धमकी दी और कहा कि अब अपनी ताकत दिखाएंगे. इस दौरान ड्यूटी इंजार्च ने घटना की जानकारी चीफ मेडिकल ऑफिसर को दी. घटना के बाद अब पुलिस में एफआईआर लॉज की गई है.

तत्काल कार्रवाई किए जाने की मांग

इस मामले के बाद एमएलसी भी दायर की गई. इसके साथ ही सफदरजंग अस्पताल के मेडिकल ऑफिसर को भी संबंधित मामले पर पत्र लिखा गया जिसमें घटना का पूरा जिक्र शामिल है. उन्होंने मांग की है कि इस मामले पर तत्काल कार्रवाई की जाए. दोषियों का इस तरह ऑनड्यूटी स्टाफ को मारना बहुत गंभीर मामला है.

वहीं ऑनड्यूटी सिस्टर ने बताया कि सफाई कर्मचारियों को सफाई करने के लिए कहा गया था. उन्होंने इस काम को करने से मना किया और ऑनड्यूटी नर्सिंग स्टाफ राजेश के साथ मार पिटाई शुरु कर दी. दोनों सफाई कर्मचारियों ने मिलकर उनका गला पकडा और इतना मारा कि दांत में से खून तक बह निकला.

सिक्योरिटी नहीं थी मौजूद

इस दौरान सिक्योरिटी का कोई व्यक्ति वहां मौजूद नहीं था. न ही किसी न इस घटना में मार पिटाई करने वाले सफाई कर्मियों को रोकने का प्रयास किया. इस तरह खुले आम ऑनड्यूटी नर्सिंग स्टाफ के साथ हाथापाई होने के बाद भी सफाई कर्मचारियों के खिलाफ कोई एक्शन नहीं लिया गया है. ऐसे दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई होनी चाहिए.

The Depth

TheDepth is India's own unbiased digital news website.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: