कोरोना हो या धूप, किसानों के हौंसले के साथ रहेंगे : भाईचारा ग्रुप

नई दिल्ली. कोरोना संक्रमण काल में इस समय में जहां लोग घर में रह रहे हैं. वहीं हमारे देश का किसान अपनी मांगो को लेकर चिलचिलाती धूप में बैठे हुए हैं. कई किसान नेताओं ने कहा है कि अगले कुछ दिनों में किसान आंदोलन को दोबारा पहले के स्तर पर चालू किया जाएगा. इस बीच किसानों की सेवा के लिए भाई चारा ग्रुप दिन रात एक किए हुए है.

स्थानीय लोगों ने बंद पड़े ऑक्सीजन प्लांट को खुलवाया, अब जनता को मिलेगा फायदा

किसान आंदोलन को अब भी जिंदा किए बैठे किसानों के जज्बे को भाई चारा ग्रुप भी सलाम कर रहा है. भाईचारा ग्रुप के सदस्यों का कहना है कि बीते 5 महीनों से भी ज्यादा समय से किसान सड़कों पर डटे हुए हैं. किसानों का हौसना न कोरोना संक्रमण डटा पाया और न ही ये गर्मी. देश का किसान हर ऐहतियात को बरतते हुए भी सड़कों पर अपनी मांगों को लेकर बैठा हुआ है.

भाई चारा ग्रुप ने बातचीत में बताया कि किसानों को धूप गर्मी की आदत है. किसान एसी में रहकर फसलें नहीं उगाते. गर्मी हो चाहे कोई मौसम आ जाए किसानों का हौंसला बुलंद है. किसान आज भी हालातों से नहीं हारा है और इस परेशानी का सामना भी हिम्मत के साथ कर रहा है.

कोरोना की पड़ी मार, अप्रैल में 75 लाख लोग हुए बेरोजगार

भाईचारा ग्रुप ने महामारी को देखते हुए किसान धरना स्थल पर बैठे किसानों को दवाईयों और मास्क का वितरण भी किया. इसी के साथ किसानों में भी कोरोना संक्रमण से लड़ाई का पैगाम भी गया. ग्रुप के सदस्यों का कहना है कि ये पहली बार है कि देश के इतिहास में किसान आंदोलन इतने लंबे समय तक जारी रहा है. आंदोलन आने वाले समय में और अधिक रोष के साथ सरकार की नीतियों का विरोध करेगा.

NEET PG · 2021: डॉक्टरों के साथ हो रहे अन्याय पर लगे लगाम

भाईचारा ग्रुप की मानें तो उनके सदस्य शुरु से इस आंदोलन के साथ जुड़े हुए हैं. उनका पूरी कोशिश है कि किसान जो अपने घर परिवार छोड़ कर अपनी मांगे मनवाने आए हैं उन्हें किसी तरह की परेशानी न हो. ऐसे में किसानों के खाने-पीने, सैनेटाइजर, दवाईयां, मास्क आदि संबंधित सभी जरूरतों का पूरा ध्यान रखा जा रहा है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: