पश्चिम बंगाल में TMC की हिंसा पर युवा मोर्चा का विरोध, उठाए कई सवाल

नई दिल्ली. पश्चिम बंगाल में चुनावी नतीजों के बाद से सिर्फ बंगाल में ही हिंसा नहीं हो रही बल्कि अब सियासी हिंसा भी शुरू हो गई है. रविवार यानी नतीजे वाले दिन ही कोलकाता स्थित BJP के दफ्तर में तथाकथित असामाजिक तत्वों द्वारा आग लगा दी गई थी. ये मामला यहीं नहीं थमा. इसके बाद सोमवार को भी पार्टी के दो कार्यकर्ताओं की पीट-पीटकर हत्या की खबर सामने आई थी.

हालांकि बीजेपी आरोप लगा चुकी है कि चुनाम में अप्रत्याशित जीत के बाद तृणमूल कांग्रेस के समर्थकों ने ही जगह जगह बीजेपी के कार्यकर्ताओं पर हमले शुरु किए हैं. इसी बीच महाराष्ट्र में भाजपा युवा मोर्चा ने वर्तमान में बंगाल में तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं द्वारा की गई हिंसा का विरोध किया. पनवेल में अपने सहयोगियों के साथ विक्रांत बालासाहेब पाटिल, समीर कदम समेत अन्य पदाधिकारियों के साथ विरोध किया.

गौरतलब है कि तृणमूल कांग्रेस की जीत के बाद से ही बंगाल धूं धूं कर जल रहा है. जगह जगह हिंसा की खबरें आ रही हैं. इस पूरे मामले पर महाराष्ट्र भारतीय जनता पार्टी युवा मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष और पनवेल महानगरपालिका के पूर्व उपमहापौर विक्रांत पाटिल ने कहा कि ममता बनर्जी और उनके कार्यकर्ताओं ने बीजेपी कार्यकर्ताओं पर निंदनीय तौर पर हमले करवाए. तृणमूल कांग्रेस का ये कदम कायरतापूर्ण था.

उन्होंने आगे कहा कि इस चुनाव की जीत ममता बनर्जी के सिर पर चढ़ गई है. यही कारण है कि वो ऐसी अमानवीय हरकतें करने पर उतारू हैं. ऐसी घटनाओं का सिलसिला अभी रुकने वाला नहीं है. तृणमूल कांग्रेस आने वाले समय में भी ऐसी घटनाओं को अंजाम देती रहेगी.

साथ ही उन्होंने महाराष्ट्र के अवसरवादी नेताओं से भी सवाल किया कि बंगाल में हो रही घटनाओं को लेकर उन्होंने चुप्पी क्यों साधी हुई है. इन हिंसाओं पर किसी तरह का विरोध न करना सीधे तौर पर इस हिंसा का समर्थन करने जैसा ही है.

The Depth

TheDepth is India's own unbiased digital news website.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: