संक्रमण रोकने के लिए लॉकडाउन की जरूरत अब अधिक, केंद्र सरकार करे फैसला: अशोक गहलोत

देश भर में कोरोना वायरस के चलटे हालात अब बेकाबू होते जा रहे हैं। राज्य सरकारों का आंशिक लॉकडाउन भी इसमें कुछ खास काम नहीं कर पा रहा है। शनिवार को राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कोरोना लॉकडाउन को जरूरी बताते हुए कहा कि यह फैसला केंद्र सरकार के स्तर पर होना चाहिए। गहलोत ने एक बयान में कहा, “संक्रमण को रोकने के लिए लॉकडाउन की पहले से अधिक आवश्यकता अभी है।

मेरी राय है कि पिछले अनुभव के आधार पर ये फैसला केन्द्र सरकार के स्तर पर होना चाहिए जिससे मजदूरों सहित आम लोगों को कम से कम तकलीफ हो एवं साथ में राज्यों के बीच बेहतर समन्वय हो सके। ’ उन्होंने कहा, “आज तमिलनाडु, केरल, कर्नाटक, हरियाणा, महाराष्ट्र और दिल्ली सहित कई राज्य एक के बाद एक लॉकडाउन लगाते जा रहे हैं। कई राज्य दूसरे राज्यों के नागरिकों का प्रवेश बंद कर रहे हैं। हमने भी राज्य में सोमवार से सख्त लॉकडाउन लगाने का फैसला किया है। यह देखा गया है कि इस बार ग्रामीण इलाकों एवं युवाओं में कोरोना वायरस संक्रमण तेज गति से फैल रहा है।

संक्रमण के प्रसार पर काबू पाने के लिए राज्य भर में सोमवार से सख्त लॉकडाउन लागू रहेगा। हम सभी का कर्तव्य बनता है कि हम अपना नागरिक धर्म निभाएं और लॉकडाउन का पूरी तरह से पालन करें जिससे राजस्थान को कोरोना संक्रमण से बचाया जा सके। गहलोत ने कहा कि लोगों के सहयोग से राजस्थान अन्य राज्यों की तुलना में बेहतर स्थिति में है और जनता अगर इसी तरह साथ देगी तो जल्द से जल्द कोरोना पर विजय प्राप्त होगी।

बता दें कि राज्य सरकार ने कोरोना वायरस संक्रमण की कड़ी तोड़ने के लिए राज्य में 10 मई से 24 मई तक सख्त लॉकडाउन लागू करने का निर्णय किया है। इस दौरान कोई विवाह समारोह नहीं होगा और सभी धार्मिक स्थल बंद रहेंगे। ग्रामीण इलाकों में महात्मा गांधी रोजगार गारंटी योजना (मनरेगा) के कार्य भी इस दौरान स्थगित रहेंगे।

The Depth

TheDepth is India's own unbiased digital news website.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: