इम्यूनिटी और ऑक्सीजन लेवल बढ़ाने के लिए जरूर खाएं ये चीजें

इन दिनों पूरा देश ही कोरोनावायरस के बढ़ते संक्रमण की चपेट में है। इसी बीच देश भर में ऑक्सीजन के लिए भी हालाकार मचा हुआ है. ऐसे में यह जरूरी हो जाता है कि हम अपनी सेहत का पूरा ख्याल रखें और अपने आहार में ऐसी चीजों को शामिल करें जिनसे शरीर की बीमारियों से लड़ने की क्षमता बढ़े। साथ ही खून में ऑक्सीजन की अच्छी मात्रा सही बनी रहे। इसलिए डाइट में ऐसी चीजें शामिल करें जो हीमोग्लोबिन को बढ़ाने में मददगार हों। इस संबंध में हार्वर्ड हेल्थ और अमेरिका के खाद्य और ड्रग ऐडमिनिस्ट्रेशन की ओर से कहा गया है कि शरीर में हीमोग्लोबिन की उचित मात्रा बनाए रखने के लिए अपने आहार में तांबा, लोहा, विटामिन के अलावा फॉलिक एसिड जरूर शामिल करना चाहिए। ये पोषक तत्व रक्त में ऑक्सीजन का स्तर बढ़ाने में मदद करते हैं।

डाइट में करें शामिल

आलू, तिल, काजू और मशरूम में भरपूर मात्रा में तांबा पाया जाता है।

-इसके अलावा आयरन के लिए चिकन, मांस आदि के अलावाा बीन्स, हरी पत्तेदार सब्जियां और दालों का सेवन कर सकते हैं।

-विटामिन ए अंडों में भरपूर मात्रा में पाया जाता है। इसके अलावा शकरकंद, गाजर, लौकी, आम और पालक आदि में भी यह पाया जाता है।-वहीं ओट्स, दही, अंडों, बादाम, पनीर, ब्रेड और दूध आदि में भी पर्याप्‍त मात्रा में राइबोफ्लेक्‍स होता है। इसमें भी आप अपनी डाइट में शामिल कर सकते हैं।

-विटामिन बी 3 मांसाहार से भरपूर मात्रा में लिया जा सकता है। इसके अलावा यह अनाज, रोस्टेड सूरजमुखी और लौकी के बीज, भुनी हुई मूंगफली से भी तैयार किया जा सकता है।

-चिकन, टुना मछली, अंडे आदि से विटामिन बी 5 का किया जा सकता है। इसके अलावा शोरूम, मूंगफली, एवाकाडो, ब्रोकली और ब्रुक राइस आदि से भी इसकी पूर्ति की जा सकती है।

इसके अलावा नींबू में विटामिन सी भरपूर मात्रा में पाया जाता है। आप इसे भी अपनी डाइट में जरूर शामिल करें। इससे कई बीमारियों से बचने में मदद मिलेगी। साथ ही यह ऑक्सीजन का शतर बढ़ाने में भी मददगार माना जाता है।

लहसुन सेहत के लिए फायदेमंद होता है। इसमें एयरलाइन विकल्पप और मात्रा मात्रा में पाया जाता है। साथ ही यह ऑक्सीजन को बढ़ाने में भी मदद करता है।

The Depth

TheDepth is India's own unbiased digital news website.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: