गुजरातः अस्पताल में लगी आग, 16 कोरोना संक्रमित मरीजों को सुरक्षित निकाला गया

एक बार कोविड वार्ड में आग लगने की घटना घटी है। लेकिन इस बार मरीजों को सुरक्षित निकाल लिया गया। घटना गुजरात के सूरत जिले के एक निजी अस्पताल की है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक इस अस्पताल के आईसीयू में रविवार रात आग लगने के बाद कोविड-19 के 16 अत्यंत गंभीर मरीजों को बाहर निकाला गया और सुरक्षित स्थानों पर भेजा गया। अधिकारियों ने बताया कि आग में किसी के हताहत होने की सूचना नहीं है। जानकारी के मुताबिक सूरत के स्टेशन रोड पर स्थित बहुमंजिला इमारत के पांचवे तल पर आयूष अस्पताल में रविवार रात 11 बजकर 40 मिनट पर आग लग गई थी जिसके बाद आईसीयू में भर्ती 16 मरीजों को बाहर निकालकर सुरक्षित स्थानों पर भेजा गया।

एबीवीपी की युवाओं से अपील, टीकाकरण से पहले रक्तदान भी जरूरी

सूरत नगरपालिका आयोग (एएमसी) के प्रभारी मुख्य अग्निशमन अधिकारी बसंत पारीक ने कहा, “आग लगने के वक्त इमारत के पांचवे तल पर स्थित अस्पताल के आईसीयू में 16 मरीज थे। दमकल विभाग की टीम ने 11 मरीजों को बाहर निकाला और शेष पांच को अस्पताल के स्टाफ ने टीम के पहुंचने से पहले ही सुरक्षित स्थानों पर पहुंचा दिया था।” उन्होंने कहा कि आग वातानुकूलन (एसी)शॉर्ट सर्किट होने या ओवरलोड की वजह से वातानुकूलन (एसी)के फट जाने के बाद लगी। पारीक ने बताया कि अग्निशमन दल द्वारा बाहर निकाले गए 11 मरीजों में से पांच को नगर निगम के एसएमआईएमईआर अस्पताल ले जाया गया, चार को संजीवनी अस्पताल और शेष दो को आयूष अस्पताल की दूसरी मंजिलों पर ले जाया गया।

वीआईपी कल्चर को बंद करने के लिए डॉक्टर्स ने पीएम मोदी को लिखा पत्र

उन्होंने कहा कि अस्पताल के जिन बाकी पांच मरीजों को कर्मचारियों ने बचाया था, उन्हें कहां रखा गया है इसका पता लगाने की कोशिश की जा रही है। पारीक ने बताया की आग की सूचना मिलने पर दमकल की करीब 15 गाड़ियों को मौके पर भेजा गया और दो गाड़ियों की मदद से आधे घंटे में ही आग पर काबू पा लिया गया।

The Depth

TheDepth is India's own unbiased digital news website.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: