करनाल में सचिवालय पर किसानों का धरना, अब यहीं डलेगा डेरा

करनाल| किसानों ने करनाल के मिनी सचिवालय के बाहर धरना शुरु कर दिया है। मंगलवार को जिला प्रशासन के विरोध में किसानों ने धरना शुरु कर दिया है। सचिवालय के रास्ते में लगाए गए बेरिकेड को भी प्रदर्शनकारियों ने हटा दिया है।

सचिवालय की ओर किसानों का मार्च होने से करनाल में भारी ट्रैफिक की समस्या उत्पन्न हो गई है। वहीं ट्रैफिक की समस्या मंगलवार की दोपहर को उस समय शुरु हुई जब अधिकारियों के साथ किसानों की बैठक के बाद किसी तरह का कोई निर्णय नहीं निकल सका।

वहीं सचिवालय की ओर कूच कर रहे प्रदर्शनकारी किसानों को पहले पुलिस ने नमस्ते चौक पर रोका। कुछ समय बाद किसानों को आगे बढ़ने की अनुमति दी गई। इस दौरान ट्रैक्टरों पर सवार होकर कई आंदोलनकारी किसान लाठियां हाथ में लिए करनाल के मिनी सचिवालय की ओर बढ़ने लगे।

इस संबंध में राजनीतिक कार्यकर्ता योगेंद्र यादव ने मीडिया को जानकारी दी कि उन्हें और भारतीय किसान संघ के नेता राकेश टिकैत को पुलिस ने कुछ समय के लिए हिरासत में भी लिया था। उन्होंने कहा कि जिस तरह के हालात बन रहे हैं वो अच्छे नहीं है। इस मार्च को शांतिपूर्ण तरीके से आयोजित होना चाहिए।

उन्होंने कहा कि हम गिरफ्तार होने के लिए तैयार है। मगर किसानों के मामले पर किसी तरह की राजनीति नहीं होनी चाहिए। बता दें कि किसान महापंचायत के 11 सदस्यों के प्रतिनिधिमंडल ने मंगलवार सुबह लघु सचिवालय में करनाल उपायुक्त को मांगों के संबंधित ज्ञापन भी सौंपा है।

इस ज्ञापन में किसानों ने मांग की है कि 28 अगस्त को प्रदर्शनकारियों पर लाठीचार्ज करने के आदेश देने वाले आईएएस अधिकारी के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाए।

The Depth

TheDepth is India's own unbiased digital news website.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: