मेमोरी तेज और डिप्रेशन से बचने के लिए रोजाना करें इसका सेवन

मॉडर्न लाइफस्टाइल के चलते डिप्रेशन की बीमारी एक आम सी बात हो गई है. लोग अपनी भागदौड़ की जिंदगी में दिमागी तौर पर कमजोर महसूस करने लगते हैं. हालांकि डिप्रेशन बहुत ही खतरनाक बीमारी है. डिप्रेशन को लेकर अलग-अलग जगहों पर रिसर्च भी चल रहा है. इसी सिलसिले में अमेरिका में किए गए एक रिसर्च में डिप्रेशन को लेकर कई तरह के खुलासे हुए हैं. इसमें बताया गया है कि डिप्रेशन को खत्म करने के लिए अखरोट काफी फायदेमंद है. आइए जानते हैं कि किस तरह डिप्रेशन के लिए अखरोट आपको फायदा पहुंचा सकता है.

यह अध्ययन न्यूट्रेंट जर्नल में प्रकाशित किया गया है. अध्ययन में पाया गया है कि अखरोट खाने से शरीर में ऊर्जा बढ़ती है और एकाग्रता बेहतर होती है. प्रमुख शोधकर्ता लेनोर अरब ने एक अध्ययन का हवाला देते हुए कहा कि अध्ययन में शामिल किए गए 6 में से हर 1 व्यस्क जीवन में एक समय पर अवसाद आता है. कैलिफोर्निया विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं ने अखरोट खाने वाले लोगों में अवसाद का स्तर 26 प्रतिशत कम पाया है. वहीं इस तरह की अन्य चीजें खाने वालों में भी अवसाद का स्तर 8 प्रतिशत कम पाया गया है.

अखरोट को पावर फूड का नाम दिया गया है क्योंकि यह स्टैमिना बढ़ाने में भी मदद करता है. इसे ब्रेन फूड भी कहा जाता है. एक अमेरिकी संस्थान की रिसर्च की मानें तो विटामिन ई, ओमेगा 3 फैटी ऐसिड, ऐंटीऑक्सिडेंट्स का अच्छा स्त्रोत होने से दिमाग को रोज ऊर्जा मिलती है. अखरोट खाने से मेमोरी तेज होती है और लोग आसानी से चीजें भूलते भी नहीं. इसके अलावा उन्होंने बताया कि डिप्रेशन से बचने के लिए कई उपायों की जरूरत है जैसे कि खानपान में बदलाव करना. लेनोर अरब ने बताया कि अखरोट पर शोध पहले ह्रदय रोगों के संबंध में किया गया है और अब इसे अवसाद के लक्षण से संबद्ध कर देखा जा रहा है. इस अध्ययन में 26 हजार अमेरिकी वयस्कों को शामिल किया गया था.

The Depth

TheDepth is India's own unbiased digital news website.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: