रामदेव की माफी काफी नहीं, एफआईआर की मांग

नई दिल्ली. बाबा रामदेव और विवादों का चोली दामन का साथ है. इन दिनों भी वो एक विवाद के चलते काफी चर्चा में बने हुए हैं. बाबा रामदेव ने तीन दिन पहले ये कह दिया कि एलोपैथी मूर्खतापूर्ण साइंस है. उनका ये वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हुआ जिसके बाद डॉक्टरों ने उसका विरोध शुरु कर दिया.

व्हाइट फंगस के ये हैं लक्षण, ऐसे करें पहचान

बाबा रामदेव यही नहीं रुके. उन्होंने ये भी कहा कि एलोपैथी दवाएं लेने के बाद लाखों की संख्या में मरीजों की मौत हो गई है. बाबा रामदेव एलोपैथी को निशाने पर लगाने का काम बार बार करते रहे हैं. वहीं अब बाबा रामदेव के इन बयानों को लेकर डॉक्टरों ने भी उनपर निशाना साधना शुरु कर दिया है.

डॉक्टर कर रहे हैं ये मांग

वहीं फाइमा के जनरल सेक्रेट्री डॉ. दत्ता ने ट्वीट किया है बाबा रामदेव द्वारा सिर्फ माफी मांगना काफी नहीं है. डॉक्टर मांग कर रहे हैं कि बाबा रामदेव दोबारा कभी एसी गलती न दोहराएं. एक अन्य ट्वीट में फाइमा ने लिखा कि एलोपैथी, डॉक्टर और कोरोना पर बोले गए बाबा रामदेव के बयान पर सॉरी काफी नहीं है. ऐसे दुर्वय्वहार के बाद बाबा रामदेव के खिलाफ महामारी एक्ट 1897 के तहत कानूनी कार्रवाई की जानी चाहिए.

कई ट्वीट हो रहे वायरल

आईएमए जूनियर डॉक्टर्स नेटवर्क ने भी ट्वीट किया कि स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने डॉक्टरों का पक्ष रखा उसके लिए धन्यवाद. मगर हमारी मांग अब भी वही है. बाबा रामदेव को गिरफ्तार किया जाए और महामारी बीमारी एक्ट के तहत उनपर कार्रवाई की जाए.

इस ट्वीट को मिला सबसे अधिक रिस्पॉन्स

रामदेव को लेकर एक ट्वीट ऐसा है जो बहुत वायरल हुआ. खबर लिखे जाने तक इस ट्वीट को 52 हजार लाइक और 13 हजार से अधिक रीट्वीट किए जा चुके हैं. ये ट्वीट किया है मेडिको गर्ल निकिता पवार ने. उन्होंने ट्वीट में लिखा है कि मैं 24 साल की हूं और इन दिनों आईसीयू में ड्यूटी कर रही हूं. यहां रोजाना आठ से 10 मामले म्यूकोरमाइकोसिस के आ रहे हैं. हम अपनी जान जोखिम में डाल कर रोज मरीजों का इलाज कर रहे हैं.

स्वास्थ्य मंत्री ने लगाई बाबा रामदेव को फटकार, कहा वापस लें बयान

इसके बावजूद बाबा रामदेव जैसे लोग आकर जो बातें बोलते हैं वो बहुत दिल दुखाने वाली होती हैं. उन्होंने बाबा रामदेव पर तंज कसते हुए कहा कि हम आपकी तरह पैसों के लिए काम नहीं करते. अपने वेतन का जिक्र करते हुए उन्होंने लिखा की हमें सिर्फ 12 हजार रुपये हर महीने मिलता है. हमारे काम पर टिप्पणी नहीं अपने कथनों के लिए शर्म करो.

The Depth

TheDepth is India's own unbiased digital news website.

%d bloggers like this: