एंबुलेंस पर दिल्ली सरकार ने लगाई ”लगाम”, तय किए दाम

दिल्ली सरकार ने एंबुलेंस चालकों पर लगाम लगा दी है। जिसके कारण अब दिल्ली में एंबुलेंस सेवा देने वाली निजी कंपनियां एंबुलेंस के लिए मनमाना किराया नहीं वसूल सकेंगी। दिल्ली सरकार ने एंबुलेंस की अधिकतम दरें घोषित कर दी हैं और निजी एंबुलेंस सेवा देने वालों को उन दरों का पालन करने का निर्देश दिया है।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि उनके संज्ञान में आया है कि दिल्ली में निजी एम्बुलेंस सेवाएं ज्यादा पैसे वसूल रहे हैं। इसी को देखते हुए, दिल्ली सरकार ने अधिकतम कीमतें तय की हैं जो निजी एम्बुलेंस सेवाएं ले सकती हैं। केजरीवाल ने कहा कि आदेश का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

दिल्ली में गुरुवार को 335 मौतें और 19,133 नए कोविड संक्रमण के मामले सामने आए है। दिल्ली के स्वास्थ्य बुलेटिन के अनुसार, शहर का कुल केस 12,73,035 हो गया है और मृत्यु दर 18,398 हो गई है। पिछले चार दिनों में यह तीसरी बार है कि नए मामलों की संख्या 20,000 से नीचे है।

नियम तोड़ा तो मिलेगी सजा

दिल्ली सरकार ने आदेश में साफ किया है कि तय किए दरों में सभी सर्विसेज जैसे ऑक्सीजन, CRA गाइडलाइंस के मुताबिक एम्बुलेंस उपकरण PPE किट ग्लव्स, मास्क, शील्ड, सैनिटाइज़ेशन, ड्राइवर, EMT, डॉक्टर आदि का चार्ज भी शामिल होगा। लिहाजा अब किसी भी एंबुलेंस वाले को मनमानी करने का एक भी मौका नहीं दिया जाएगा और कोई भी इस मुश्किल समय में लोगों को लूट नहीं पाएगा।

वैसे इस आदेश में ये भी बताया गया है कि नियम टूटने पर सख्त कार्रवाई की जाएगी। अगर कोई भी प्राइवेट एम्बुलेंस सर्विस, सर्विस प्रोवाइडर, ऑपरेटर, ओनर इन नियमों का उल्लंघन करता पाया गया तो एम्बुलेंस ड्राइवर का ड्राइविंग लाइसेंस कैंसिल किया जा सकता है। इतना ही नहीं, एम्बुलेंस के रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट को कैंसिल करने के अलावा एम्बुलेंस पर प्रतिबंध भी लगाया जा सकता है

The Depth

TheDepth is India's own unbiased digital news website.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: