CBSE का कंटीन्यूअस प्रोफेशनल डेवलपमेंट प्रोग्राम टीचर्स को रखेगा ”स्ट्रेस फ्री”

रणवीर सिंह, The Depth News

पूरा देश इन दिनों कोरोना वायरस संक्रमण की चपेट में है। ऐसे में मेडिकल स्टाफ के अलावा टीचर्स के ऊपर भी काफी दबाव है। इनकी इसी स्थिति को देखते हुए सेंट्रल बोर्ड आफ सेकेंडरी एजुकेशन (CBSE) ने कंटीन्यूअस प्रोफेशनल डेवलपमेंट प्रोग्राम की शुरूआत की है।

इस प्रोग्राम का मकसद है कोविड काल में टीचर्स को तनाव रहित रखना। इस प्रोग्राम के तहत हर शिक्षक को 1 साल में 50 घंटे के ऑनलाइन प्रोग्राम में उपस्थित रहकर नई शिक्षा नीति एवं (सीपीडी) प्रोग्राम के बारे में प्रशिक्षण प्राप्त करना होगा।

कोरोना संकट में एड्स के इलाज में पिछड़ी दुनिया, WHO ने कहा 2030 तक खत्म करना संभव नहीं

CBSE से संबंधित स्कूलों के टीचर्स को तकरीबन 1 साल में 50 घंटे का ऑनलाइन क्लास अनिवार्य रूप से अटेंड करना होगा।

ऑनलाइन क्लास में उन्हें नई शिक्षा नीति के तहत होने वाले बदलावों के बारे में संबंधित विषय के विशेषज्ञ उन्हें जानकारी देंगे कि किस तरीके से नई शिक्षा नीति को बेहतर बनाया जाए। साथ ही टीचर्स को इस सेशन के जरिये नई-नई चीजें सीखने को मिलेगी। 

कोरोना की पड़ी मार, अप्रैल में 75 लाख लोग हुए बेरोजगार

बोर्ड की ओर से सर्कुलर जारी कर दिया गया है कि जितने भी प्रधानाचार्य हैं वह इसकी जानकारी स्कूल में सभी शिक्षकों को दें जिससे अधिक से अधिक टीचर्स इसमें भाग ले सकें। टीचर्स को बोर्ड की ओर से हर माह दो सत्रों में निशुल्क भाग लेने का भी मौका मिलेगा।

सीबीएसई की ओर से दी गई जानकारी के मुताबिक वेबसाइट पर ट्रेनिंग का लिंक होगा। इस लिंक पर क्लिक करते ही टीचर्स ऑनलाइन ट्रेनिंग प्रोग्राम में भाग ले सकते हैं।

इन विषयों की होगी ट्रेनिंग

इनोवेटिव पेडागोजीज

टीचिंग लर्निंग प्रैक्टिसेज

इंटीग्रेशन ऑफ आर्ट स्पोर्ट एंड आईसीटी इन क्लासरूम

इंटीग्रेशन ऑफ लाइफ स्किल

The Depth

TheDepth is India's own unbiased digital news website.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: