Toolkit Case: बांबे हाईकोर्ट ने दी निकिता जैकब को राहत, गिरफ्तारी पर 3 हफ्ते की रोक

टूलकिट मामले में निकिता जैकब की अर्जी पर बॉम्बे हाईकोर्ट ने फैसला देते हुए उन्हें राहत दी है। बॉम्बे हाईकोर्ट ने निकिता जैकब की ट्रांजिट अग्रिम जमानत अर्जी, टूलकिट मामले में दिल्ली पुलिस द्वारा एफआईआर के संबंध में 3 सप्ताह के लिए उसकी ट्रांजिट जमानत देने की अनुमति दी।गिरफ्तारी के मामले में, उसे 25,000 रुपये के निजी मुचलके और इतनी ही राशि की जमानत पर रिहा किया जाएगा।

दिल्ली पुलिस का कहना है कि टूलकिट को दिशा रवि ने ग्रेेटा थनबर्ग से साझा किया था जिसकी ऑथर निकिता जैकब थी और उसे बीड के रहने वाले शांतनू से मदद मिली। पुलिस का यह भी कहना है कि जब व्हाट्सऐप संदेशों को डिकोड किया गया तो कई सनसनीखेज जानकारियां सामने आईं। मसलन एक चैट में दिशा रवि, ग्रेटा थनबर्ग को आशवस्त करती नजर आती हैं कि उसकी छवि को किसी तरह का खतरा नहीं होगा। इसके साथ वो खुद के बारे में कहती हैं कि अगर टूलकिट वाले ट्वीट को डिलीट नहीं किया गया तो उसके खिलाफ यूएपीए का केस बन सकता है।

बता दें कि दिशा रवि इस समय दिल्ली पुलिस की रिमांड पर हैं। उनकी गिरफ्तारी के संबंध में तरह तरह के सवाल राजनीतिक दलों की तरफ से उठाए जा रहे हैं। कांग्रेस पार्टी का कहना है कि यह सरकार एक निहत्थी लड़की से डर गई। लेकिन पार्टी उसकी आवाज का समर्थन करती है। इसके अलावा आम आदमी पार्टी का कहना है कि केंद्र सरकार असली मुद्दों से ध्यान भटकाने के लिए इस तरह के मुद्दों को सामने ला रही है। 

The Depth

TheDepth is India's own unbiased digital news website.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *